महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक और तमिलनाडु का बुरा हाल: 61 की मौत

0
135

मुंबई/कोझिकोड/बेंगलुरु:महाराष्ट्र समेत दक्षिण भारत के तीन राज्यों में भारी बारिश से हाहाकार मचा हुआ है। इन राज्यों में बारिश और बाढ़ की वजह से अब तक 61 मौते हो चुकी हैं। जबकि सैंकड़ो लोग लापता बताए जा रहे हैं। मरने वालों की सबसे ज्यादा संख्या महाराष्ट्र में है। यहां अब 27 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं केरल में 23 और कर्नाटक में 9 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। इन राज्यों में विस्थापितों की संख्या भी हजारों में है।

महाराष्ट्र: अब तक 27 की मौत, आज भी बारिश के आसार

महाराष्ट्र को भारी बारिश से अभी भी राहत नहीं है। मुंबई और आस-पास के इलाकों में आज भी जोरदार बारिश के आसार हैं। बारिश और बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों सांगली, कोल्हापुर, सोलापुर, पुणे और सतारा में फंसे अब तक 2,05,591 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है, जबकि 27 लोगों की मौत हो चुकी है। सांगली में तत्काल मदद के लिए बीती रात ग्रीन कॉरिडोर बनाकर बचाव दल को रवाना किया गया है। यहां नाव पलटने से अब तक 9 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं जबकि कई लापता हैं।

कोल्हापुर में 97,102 लोगों को शिफ्ट किया जा चुका है जबकि सांगली में 80,319, पुणे में 13,336, सोलापुर से 7,749 और सतारा से 7,085 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया गया है। सांगली में बारिश के चलते 11 लोगों की जबकि कोल्हापुर में 2, सतारा में 7, पुणे में 6 और सोलापुर में 1 की मौत हुई है।

केरल: बारिश और भूस्खलन से 23 की मौत, रेस्क्यू जारी

केरल में मूसलाधार बारिश, तेज हवाओं और भूस्खलन के चलते जनजीवन बुरी तरह प्रभावित है। केरल में बारिश के चलते अब तक 23 लोगों की मौत हो चुकी हैं। कोझिकोड में दो लोगों के शव शुक्रवार सुबह बरामद किए गए। गुरुवार को वायनाड में भूस्खलन के चलते कई लोग के दबे होने की खबर है। अब तक केवल दो शव बरामद किए गए हैं जबकि 100 से अधिक लोगों को बचाया जा चुका है। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। इसके अलावा एर्नाकुलम में लोगों के घरों में पानी घुस गया है जबकि कोझिकोड पानी से लबालब भरा हुआ है।

कोच्चि एयरपोर्ट पर संचालन ठप

बारिश के चलते केरल में सभी स्कूल बंद शुक्रवार को बंद कर दिए हैं। इसके अलावा कोच्चि एयरपोर्ट में रविवार दोपहर तीन बजे तक विमानों का संचालन बंद कर दिया गया है। केरल राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (केडीएसएमए) के अनुसार, बारिश के चलते बाढ़ में फंसे 22,165 लोगों को रेस्क्यू करके सुरक्षित जगह पर पहुंचाया गया और 315 राहत कैंपों में विस्थापित किया गया है। राज्य सरकार ने 13 एनडीआरएफ टीमों की मदद मांगी है जिनमें से 3 वायनाड, मलप्पुरम और इडुकी पहुंच चुकी हैं। 12 बांधों- मनियार, मंलकारा, मंगलम, कल्लार, पंबला, एरात्तयार, लोअर पेरियार, कांजिरामपुझा और अन्य के दरवाजे भी खोल दिए गए हैं। केरल के सीएम ने बताया कि राज्य में 315 राहत शिविर लगाए गए हैं। इनमें करीब 22000 लोग हैं। इन कैंपों में ज्यादातर लोग वायनाड़ में हैं।

कर्नाटक: 9 मौतें, 16 हजार से अधिक विस्थापित

महाराष्ट्र और केरल के अलावा कर्नाटक के कुछ हिस्सों में भी भारी बारिश हो रही है। बारिश और बाढ़ प्रभावित राज्य में अब तक 9 मौतें हो चुकी हैं जबकि 16,875 लोगों और 3,010 जानवरों को 272 राहत कैंपों में रखा गया है। मंगलुरु में बेलतंगडी तालुक के कोक्कड़ इलाके के पास कपिला नदी में बहने से एक शख्स की मौत हो गई है। कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन कॉर्पोरेशन के अनुसार, भारी बारिश और जलभराव के कारण मैसूर से मदिकेरी और मैसूर से एचडी कोटे रोड बंद कर दी गई है। इससे यातायात भारी रूप से प्रभावित रहेगा। कर्नाटक में भारतीय वायु सेना ने बाढ़ प्रभावित जिले बेलागवी के कई इलाकों में राहत कार्य कर 25 लोगों को एयरलिफ्ट किया। इसके अलावा पानी के बोतल के साथ 475 फूड पैकेट भी बाढ़ प्रभावित जिले में बांटे। वहीं कर्नाटक के सीएम येदियुरप्पा ने शुक्रवार को बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवार्द दौरा किया।

सभी स्टेशनों पर रुकेगी मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें

इसके अलावा स्टेशन में फंसे यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने बीजापुर और गडग के बीच पड़ने वाले सभी स्टेशनों में मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों के स्टॉपेज के निर्देश दिए हैं। रेलवे प्रवक्ता ने बताया, कर्नाटक के बीजापुर से गडग के बीच फंसे यात्रियों को रेस्क्यू करने के लिए मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों को सभी स्टेशनों पर रोका जाएगा। इसका निर्देश जारी कर दिया गया है। महाराष्ट्र में कृष्णा और भीमा नदी के बांधों से और पानी छोड़े जाने की आशंका है। इससे बीजापुर और बागलकोट जिले प्रभावित होंगे।

तमिलनाडु: दो की मौत, अलर्ट जारी

तमिलनाडु के कई जिलों में भी बारिश का प्रकोप जारी है। कोयंबटूर में दो लोगों की मौत हो चुकी है। उधर, नीलगिरि, थेनी, तिरुनेलवेली और कन्याकुमारी में भारी बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गोवा, महाराष्ट्र, गुजरात और कर्नाटक में अगले दो दिन तक भारी बारिश की आशंका है।