BJP विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर हत्‍या का मामला दर्ज

0
113
newstrust-rape case
newstrust-rape case

लखनऊ, जेएनएन। उन्नाव में एक नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में जेल में बंद भारतीय जनता पार्टी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की मुश्किल पीड़िता के सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल होने पर और बढ़ गई है।पीड़िता के चाचा की तहरीर पर रायबरेली में सड़क दुर्घटना में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत दस लोगों को नामजद किया गया है। इस मामले में रायबरेली के गुरुबख्शगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

रायबरेली में गंभीर रूप से घायल पीड़िता के चाचा महेश सिंह की तहरीर पर विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के साथ दस लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। रायबरेली सड़क दुर्घटना में अब भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत दस लोग नामजद और दो दर्जन से अधिक पर हत्या के साथ जानलेवा हमला करने और साजिश की एफआईआर दर्ज की गई है। रायबरेली जेल में बंद पीड़िता के चाचा की तहरीर पर भाजपा विधायक कुलदीप सिंह, उनके भाई मनोज सिंह सहित 10 लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया। 15 से 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया।

महेश सिंह ने 72 घंटे की पेरोल मांगी है

उन्नाव में दुष्कर्म पीडि़ता के चाचा महेश सिंह की तहरीर पर रायबरेली के गुरुबख्शगंज थाने में एफआईआर दर्ज हुई है। इसके साथ ही रायबरेली जेल में बंद महेश सिंह ने 72 घंटे की पेरोल मांगी है। महेेश सिंह रायबरेली में सड़क दुर्घटना में मृत पुष्पा सिंह के पति हैं। महेश सिंह रायबरेली जेल में 307 के मामले में बंद हैं।

खंगाली जाएगी विधायक के साथियों व ट्रक चालक की कॉल डिटेल

उन्नाव रेप पीड़िता की कार के एक्सीडेंट मामले में एडीजी लखनऊ जोन राजीव कृष्णा और आईजी लखनऊ एसके भगत ने कहा कि ट्रक मालिक और उसके ड्राइवर की कॉल डिटेल की जांच की जा रही है। इनके साथ ही आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के सहयोगियों की भी कॉल डिटेल जांची जा रही है। इसके साथ ट्रक क्लीनर के भी मोबाइल को खंगाला जा रहा है। इन सभी के मोबाइल नंबरों की भी जांच की जा रही है।

कुलदीप सिंह सेंग पर एक्सीडेंट करवाने का आरोप

उन्नाव रेप पीड़िता की इस दुर्घटना में परिवार ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के इशारे पर एक्सीडेंट करवाने का आरोप लगाया है। पुलिस के शीर्ष अधिकारियों ने बताया कि रेप पीड़िता को 10 पुलिसकर्मियों की सुरक्षा मिली हुई है। उसके रायबरेली जाने के दौरान कार में चार लोग थे। एक व्यक्ति को उन्हें रायबरेली से कार में बैठाना था। कार में जगह न होने से पीड़िता ने कार में गनर को नहीं बैठाया था।